Bharat, Gandhi Aur Main (भारत, गांधी और मैं)

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search


गांधी कोई कागजी महापुरुष नहीं हैं कि आलोचना की वर्षा आएगी और उनका रंग-रोगन बह जाएगा। कुछ कागजी महापुरुष होते हैं उन्हें आलोचना से बचाया जाना चाहिए, क्योंकि वे आलोचना में खड़े नहीं रह सकते हैं। भारत की समस्‍याओं से जुड़े ओशो के विचार आंखें खोल देने वाले हैं।
notes
Previously, and apparently later, published as Aswikriti Mein Utha Haath (अस्वीकृति में उठा हाथ). BGAM was probably published in 1969. Most of the original talks were likely given in early Dec 1968 in Mumbai. See Aswikriti's talk page for the details of sorting all this out.
time period of Osho's original talks/writings
Dec 2, 1968 to Dec 4, 1968 plus ? : timeline
number of discourses/chapters
8


editions

Blank.jpg

Bharat, Gandhi Aur Main (भारत, गांधी और मैं)

Year of publication : Jan 1974
Publisher : Star Publication (P) Ltd, New Delhi
Edition no. : 1
ISBN
Number of pages :
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes :

Bharat, Gandhi Aur Main cover.jpg

Bharat, Gandhi Aur Main (भारत, गांधी और मैं)

Year of publication : Jan 1974
Publisher : Star Publication (P) Ltd, New Delhi
Edition no. : 2
ISBN : none
Number of pages : 154
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes :

Blank.jpg

Bharat, Gandhi Aur Main (भारत, गांधी और मैं)

Year of publication : Apr 1974
Publisher : Star Publication (P) Ltd, New Delhi
Edition no. : 3
ISBN : none
Number of pages :
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes :

Bharat, Gandhi Aur Main cover.jpg

Bharat, Gandhi Aur Main (भारत, गांधी और मैं)

Year of publication : Nov 1974
Publisher : Star Publication (P) Ltd, New Delhi
Edition no. : 4
ISBN : none
Number of pages : 154
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes :