Osho Kee Is Madhushaala Mein Fir Mastaane Aaye Hain

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search
Osho Kee Is Madhushaala Mein Fir Mastaane Aaye Hain - ओशो की इस मधुशाला में फिर मस्ताने आए हैं


Sw Shailendra Saraswati has kindly shared the studio track and the lyrics.

Writers
Sw Neelanchal
Sw Pramod (Dr. Pramod Jain)
Sw Shailendra Saraswati
Sw Anand Siddharth
Lyrics
ओशो की इस मधुशाला में osho kee is madhushaala mein

ओशो की इस मधुशाला में फिर मस्ताने आए हैं;
जीवन की मदिरा को पीने हम दीवाने आए हैं।

रंग अनोखा ढंग अनोखा, सदगुरु का सत्संग अनोखा;
होश की हाला ढालने ओशो, साकी बन कर आए हैं।

गाकर पी ले नाच के पी ले, कभी मौन में डूबके पी ले;
झूम-झूम के जीने वाले, मयखाने में आए हैं।

खुद को मिटाने खुद को जलाने, अपनी खुदी की खाक उड़ाने;
खुदा की इस शम्मा पर मरने, हम परवाने आए हैं।

अजब रीत है गजब प्रीत है, यहां हारकर मिले जीत है;
हम अलबेले मीत जगत में, प्रेम लुटाने आए हैं।

छोड़ किनारे तोड़ सहारे, दरिया के संग बह जा प्यारे;
जो चलने को राजी, सागर तक ले जाने आए हैं।

osho kee is madhushaala mein phir mastaane aae hain;
jeevan kee madira ko peene ham deevaane aae hain.

rang anokha dhang anokha, sadaguru ka satsang anokha;
hosh kee haala dhaalane osho, saakee ban kar aae hain.

gaakar pee le naach ke pee le, kabhee maun mein doobake pee le;
jhoom-jhoom ke jeene vaale, mayakhaane mein aae hain.

khud ko mitaane khud ko jalaane, apanee khudee kee khaak udaane;
khuda kee is shamma par marane, ham paravaane aae hain.

ajab reet hai gajab preet hai, yahaan haarakar mile jeet hai;
ham alabele meet jagat mein, prem lutaane aae hain.

chhod kinaare tod sahaare, dariya ke sang bah ja pyaare;
jo chalane ko raajee, saagar tak le jaane aae hain.

Osho Ke Mastaane (music album)

Artists
Ma Amrit Priya - Main singer
Recorded
2007 at Gurdeep Studio, Delhi (India)
Released
2007

Audio - full length

04 13:42