Sahaj Asiki Nahin (सहज आसिकी नाहिं)

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search


प्रेम ही जीवन है, प्रेम ही मंदिर है, प्रेम ही पूजा है, इस सत्य का उदघाटन ओशो ने संत पलटू के वचनों पर बोलते हुए किया है। प्रेम के स्वरूप को समझाते हुए ओशो कहते हैं : ‘‘मैं तो चाहूंगा कि अब प्रेम के मंदिर हों। प्रेम की एक खूबी है कि प्रेम न तो हिंदू होता न मुसलमान होता, न ईसाई होता न जैन होता; न हिंदुस्तानी, न पाकिस्तानी, न अफगानिस्तानी। प्रेम तो बस प्रेम है। प्रेम तो बहुत विराट है, सभी को आत्मसात कर लेता है।’’
notes
See discussion for some consideration of edition excess.
time period of Osho's original talks/writings
Dec 1, 1980 to Dec 10, 1980 : timeline
number of discourses/chapters
10   (see table of contents)


editions

Sahaj Asiki Nahin 1981 cover.jpg

Sahaj Asiki Nahin (सहज आसिकी नाहिं)

Year of publication : Mar 1981
Publisher : Rajneesh Foundation
ISBN : none
Number of pages : 207
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes :

Sahaj Aasiki 1994 cover.jpg

Sahaj Asiki Nahin (सहज आसिकी नाहिं)

Year of publication : Mar 1994
Publisher : Rebel Publishing House, Pune, India
ISBN 81-7261-022-X (click ISBN to buy online)
Number of pages :
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes :

Blank.jpg

Sahaj Asiki Nahin (सहज आसिकी नाहिं)

Year of publication : 1999
Publisher : Rebel Publishing House, Pune, India
ISBN 9788172610227 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 212
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes : **

Sahaj Aasiki 1994 cover.jpg

Sahaj Asiki Nahin (सहज आसिकी नाहिं)

Year of publication : 2003
Publisher : Rebel Publishing House, Pune, India
ISBN
Number of pages :
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes : **

SahajAsiki.jpg

Sahaj Asiki Nahin (सहज आसिकी नाहिं)

Year of publication : 2011
Publisher : Osho Media International
ISBN 9788172610227 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 216
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes : **

SahajAsiki.jpg

Sahaj Asiki Nahin (सहज आसिकी नाहिं)

Year of publication : 2018
Publisher : Osho Media International
ISBN 978-0-88050-803-2 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 423
Hardcover / Paperback / Ebook : E
Edition notes :

table of contents

editions 1981.03, 1994.03**
chapter titles
discourses
event location duration media
1 यह प्रेम का मयखाना है 1 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 32min audio
2 सहज निर्मलता 2 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 24min audio
3 आत्मश्रद्धा की कीमिया** 3 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 0h 50min audio
4 संन्यास यानी नया जन्म 4 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 30min audio
5 अब प्रेम के मंदिर हों 5 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 16min audio
6 है इसका कोई उत्तर 6 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 24min audio
7 मैं तुम्हारा कल्याणमित्र हूं** 7 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 22min audio
8 स्वाध्याय ही ध्यान है 8 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 23min audio
9 जिसको पीना हो आजाए** 9 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 23min audio
10 अंतर-आकाश के फूल 10 Dec 1980 am Buddha Hall, Pune 1h 9min audio
** 1994 edition has the same chapter titles as 1981 has except the following:
  • ch.3 = आत्म-श्रद्धा की कीमिया
  • ch.7 = मैं तुम्हारा कल्याण-मित्र हूं
  • ch.9 = जिसको पीना हो आ जाए