Ek Naya Dwar (एक नया द्वार)

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search


जीवन भर की दौड़ का परिणाम मौत के अतिरिक्त और क्या होता है? जीवन भर चलने के बाद मौत के सिवाय हम और कहां पहुंचते हैं? और अगर मौत ही मंजिल है, और अगर मौत ही पहुंचना है, तो जीवन का क्या अर्थ है फिर? जीवन का क्या अभिप्राय है? दुख से बचना चाहते हैं, पीड़ा से बचना
notes
"Description" above is a riff on death. Format apparently Q & A. First publication about which anything is known is OMI's 2016 edition. Also available as Audio Book and eBook, suggesting the possibility of an earlier book. See discussion for audio and 2016 OMI TOCs and other explorations.
time period of Osho's original talks/writings
1967?** : timeline
number of discourses/chapters
5


editions

Blank.jpg

Ek Naya Dwar (एक नया द्वार)

Year of publication : <1997
Publisher :
Edition no. :
ISBN
Number of pages :
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes : A list from Osho Diary 1997 (the image) mentiones this title as published earlier.

Ek Naya Dwar 2016 cover.jpg

Ek Naya Dwar (एक नया द्वार)

Year of publication : 2016
Publisher : Osho Media International
Edition no. :
ISBN 978-81-7261-335-8 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 136
Hardcover / Paperback / Ebook : H
Edition notes :

Ek Naya Dwar 2016 cover-2.jpg

Ek Naya Dwar (एक नया द्वार)

Year of publication : 2018
Publisher : Osho Media International
Edition no. :
ISBN 978-0-88050-852-0 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 225
Hardcover / Paperback / Ebook : E
Edition notes :