Jo Ghar Bare Aapna (जो घर बारे आपना)

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search


ध्यान साधना शिविर, आजोल में ध्यान-प्रयोगों एवं प्रश्नोत्तर सहित ओशो द्वारा दिए गए सात अमृत प्रवचनों का अपूर्व संकलन
जीवन एक रहस्य है। जिसे हम जीवन कहते हैं, जिसे हम जीवन जानते हैं, जैसा जानते हैं, वैसा ही सब कुछ नहीं है। बहुत कुछ है जो अनजाना ही रह जाता है। शायद सब-कुछ ही अनजाना रह जाता है। आप पाएंगे इस लघु पुस्तिका में जीवन के रहस्यों को उदघाटित करने के सूत्र।
notes
Seven talks on meditation given at a meditation camp in Ajol, GJ plus one two months later in Mumbai. See discussion for an audio-based TOC and some Dates and Places info.
time period of Osho's original talks/writings
Aug 27, 1970 to Aug 30, 1970 (camp) plus Nov 12, 1970 : timeline
number of discourses/chapters
8


editions

Blank.jpg

Jo Ghar Bare Aapna (जो घर बारे आपना)

Year of publication : 1971
Publisher :
ISBN
Number of pages :
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes : Sources: in lists from Prem Ke Phool (प्रेम के फूल) (1970.12 ed.), Prem Aur Vivah (प्रेम और विवाह) (1971.05 ed.), Hindi Books in Print Lists#Mar 1971 and #Jul 1971 as 'in press'; other lists from Mahaveer-Vani, Bhag 2 (महावीर-वाणी, भाग 2) ver 1.5 (1988 ed.) and Dhyan Ke Kamal (ध्यान के कमल) (1999.06 ed.) say it is published.

2633 sml.jpg

Jo Ghar Bare Aapna (जो घर बारे आपना)

Year of publication : 2003
Publisher : Rebel Publishing House, Pune, India
ISBN
Number of pages :
Hardcover / Paperback / Ebook :
Edition notes :

JoGhar-2.jpg

Jo Ghar Bare Aapna (जो घर बारे आपना)

ध्यान के जगत में आमंत्रण (Dhyan Ke Jagat Mein Aamantrana)

Year of publication : 2007
Publisher : Manoj Publications
ISBN 978-81-310-0442-5 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 112
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes : reprint 2012