Naam Sumir Man Bavre (नाम सुमिर मन बावरे)

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search


जगजीवन साहब के वचनों पर ओशो के पांच प्रवचन व पांच प्रवचनों में ओशो साधकों के सवालों के जवाब देते हैं।
‘एक नई यात्रा पर निकलते हैं आज! बुद्ध का, कृष्ण का, क्राइस्ट का मार्ग तो राज-पथ है। राजपथ का अपना सौंदर्य है, अपनी सुविधा, अपनी सुरक्षा। सुंदरदास, दादूदयाल या अब जिस यात्रा पर हम चल रहे हैं—जगजीवन साहब—इनके रास्ते पगडंडियां हैं। पगडंडियों का अपना सौंदर्य
notes
Discourses given in Pune on Jagjivan, alternating with Q&A. See discussion for more on him and a TOC.
time period of Osho's original talks/writings
from Aug 1, 1978 to Aug 10, 1978 : timeline
number of discourses/chapters
10


editions

Naam Sumir 1979 cover.jpg

Naam Sumir Man Bavre (नाम सुमिर मन बावरे)

Year of publication : Mar 1979
Publisher : Rajneesh Foundation
Edition no. : 1
ISBN : none
Number of pages : 323
Hardcover / Paperback / Ebook : H
Edition notes : see also discussion
co-ordination: Sw Narendra Bodhisatva
design: Ma Prem Sarva
editing - compiling: Ma Amrit Sadhana
© Rajneesh Foundation, Poona 1979
publisher: Ma Yoga Laxmi, Rajneesh Foundation Limited, 17 Koregaon Park, Poona 411001 (Maharashtra)
first edition: 21 March 1979, 3000 copies
price: 50.00 rupees
printer: Suresh Jagtap, Janaseva Mudranalaya, 192 Shukrawar Peth, Poona 411002

NamSumir-2.jpg

Naam Sumir Man Bavre (नाम सुमिर मन बावरे)

संत पालतूदस के पदों पर ओशो द्वारा दिए गए प्रवचन (Sant Paltudas Ke Padon Par Osho Dvara Die Gae Pravachan)

Year of publication :
Publisher : Diamond Books
Edition no. :
ISBN 9788171825707 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 328/164
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes : See discussion

NamSumir-lg.jpg

Naam Sumir Man Bavre (नाम सुमिर मन बावरे)

जगजीवन-वाणी पर प्रवचन (Jagjivan-Vani Par Pravachan)

Year of publication : 2012
Publisher : Diamond Pocket Books, Pvt. Ltd., New Delhi
Edition no. :
ISBN 978-93-5083-202-8 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 296
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes :