Upasana Ke Kshan (उपासना के क्षण)

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search


पुस्तक के कुछ मुख्य विषय-बिंदु
1 निरंतर चलते विचारों से मुक्ति के उपाय
2 क्या है क्रोध का मनोविज्ञान?
3 जीवन कैसे जाना जाए?
4 ‘टोटल लिविंग’ का क्या मतलब है?
5 चिंता और विचार का फर्क
6 समझ के साथ साहस की बड़ी जरूरत होती है
notes
Eleven or twelve intimate talks with small groups. See discussion for a TOC and a wee chat about chapters, dates and places and other things.
time period of Osho's original talks/writings
Apr 24 1964 to Jan 20 1970 : timeline
number of discourses/chapters
11/12 **


editions

Upasana2013.jpg

Upasana Ke Kshan (उपासना के क्षण)

अंतरंग वार्ताएं (antarang vartayen)

Year of publication : 2013
Publisher : Osho Media International
Edition no. :
ISBN 978-81-7261-282-5 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 316
Hardcover / Paperback / Ebook : H
Edition notes :