Rahasya Mein Pravesh (रहस्य में प्रवेश)

From The Sannyas Wiki
Jump to: navigation, search


translated from
English: Vigyan Bhairav Tantra, Second Series (ch.65-72)
notes
Previously published as Tantra-Sutra, Bhag 9 (तंत्र-सूत्र, भाग नौ). See Tantra-Sutra (तंत्र-सूत्र) (series) for other vols.
time period of Osho's original talks/writings
Jul 25, 1973 to Aug 1, 1973 : timeline
number of discourses/chapters
8 (numbered 65-72)   (see table of contents)


editions

Rahasya Mein Pravesh.jpg

Rahasya Mein Pravesh (रहस्य में प्रवेश)

विज्ञान भैरव तंत्र : नौवां खंड (Vigyan Bhairav Tantra: 9 Khand)

Year of publication : 2001
Reprint 2006
Publisher : Hind Pocket Books
Edition no. :
ISBN 81-216-0716-7 (click ISBN to buy online)
Number of pages : 162
Hardcover / Paperback / Ebook : P
Edition notes :

table of contents

edition 2001
chapter titles
discourses
event location duration media
65 जीवन एक रहस्य है
92. निर्विचार क्षणों के प्रति सजग होओ
93. शरीर को असीमित जानो
25 Jul 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 28min audio
66 अंतस का आकाश और रहस्य
1. आप किसे रहस्य कहते हैं?
2. मैं अपने को सामान्य अनुभव करता हूं, लेकिन कोई रूपांतरण नहीं देखता।
3. क्या अच्छे और बुरे जैसा कुछ होता है?
4. क्या कल्पना का उपयोग असीम के अनुभव के लिए किया जा सकता है?
26 Jul 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 22min audio
67 मन और पदार्थ के पार
94. अपने को भरा हुआ अनुभव करो
95. स्तनों पर अवधान को केंद्रित करो
27 Jul 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 35min audio
68 लक्ष्य की धारणा ही बंधन है
1. क्या कल्पना भी कामना नहीं है?
2. कल आपने कहा कि मन सत्य है। लेकिन फिर सभी गुरु मन को बाधा क्‍यों कहते हैं?
3. केंद्र के रूपांतरण पर इतना जोर क्‍यों है?
4. स्त्री और पुरुष के लिए अलग-अलग विधियां क्यों हैं?
28 Jul 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 26min audio
69 एकांत दर्पण बन जाता है
96. अनंत विस्तार में देखते रहो
97. अनंत अंतरिक्ष को अपने आनंद-शरीर से भर दो
29 Jul 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 35min audio
70 तपश्चर्या : अकेलेपन से गुजरने का साहस
1. अकेलापन बहुत काटता है। क्या करें?
2. एकांत और पूर्णता में सामंजस्य कैसे बिठाएं?
3. संबंधों को बढ़ाएं या घटाएं?
4. यौन का आकर्षण क्या गर्भ में वापस लौटने का आकर्षण है?
5. आपका 'हम' से क्या तात्पर्य है?
30 Jul 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 25min audio
71 परिधि का विस्मरण
98. अपने हृदय में शांति का अनुभव करो
99. समस्त दिशाओं में व्याप्त हो जाओ
31 Jul 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 30min audio
72 असुरक्षा में जीना बुद्धत्व का मार्ग है
1. कृपया बुद्धपुरुष के प्रेम को समझाएं।
2. क्या प्रेम गहरा होकर विवाह नहीं बन सकता?
3. क्या व्यक्ति असुरक्षा में जीते हुए निश्चिंत रह सकता है?
4. अतिक्रमण की क्या आवश्यकता है?
1 Aug 1973 pm Woodlands, Bombay 1h 18min audio